X Close
X

तिरंगे के रंग में रंगे ताजिया से दिया राष्ट्रप्रेम व भाईचारे का संदेश


New Delhi:

शिवपुरी (मध्य प्रदेश), 11 सितंबर | देशभक्ति को किसी मजहब या धर्म से नहीं जोड़ा जा सकता। देशभक्ति तो धर्म से भी बढ़कर है। यह बात मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले में सार्थक साबित हुई, जहां मुस्लिम समुदाय के लोगों ने ताजिया को तिरंगे के रंग में रंग दिया। शिवपुरी जिले के पिछोर में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने राष्ट्रीय एकता की थीम पर ताजिया बनाया। इस ताजिया को तिरंगे के रंग में रंगा गया था, जिसके बीच में चक्र और भारत के नक्शे का आकार भी नजर आ रहा था। यह सभी के बीच आकर्षण का केंद्र बना हुआ था। इस ताजिए को 10 लोगों ने दिन-रात मेहनत कर 25 दिनों में तैयार किया था।

पिछोर के वार्ड नंबर नौ में रहने वाले सूफियान बेग मिर्जा ने इस ताजिए का निर्माण किया। उनका कहना है, "हम लोगों के मन में सदैव हिंदुस्तान बसता है और यही हमारा मुल्क है। कश्मीर भारत का एक अभिन्न अंग है और अनुच्छेद-370 खत्म करके हमारी हुकूमत ने कश्मीर में अमन का माहौल बनाया है।"

ताजिया बनाने वालों में जिन लोगों का सहयोग रहा, उनमें से सभी चाहते थे कि इस बार कुछ अलग अंदाज में ताजिया बनाना चाहिए। इन्हीं में से एक युवा जाहिद खान ने कहा, "यह संदेश जोरों से फैलाया जा रहा है कि देश में हिंदू-मुस्लिम के बीच एकता नहीं है। लिहाजा सभी ने इस एकता को प्रदर्शित करने के लिए यह ताजिया बनाया, जो राष्ट्रीय एकता की थीम पर आधारित था। इसके जरिए बताया गया कि देश में भाईचारा है और सभी अखंडता के पक्षधर हैं।"

उन्होंने कहा कि वह इसके जरिए यह भी संदेश देना चाहते हैं कि, पहले हम सब भारतीय हैं और उसके बाद हमारा धर्म है।

पिछोर में मंगलवार की देर शाम को यह ताजिया निकाला गया, जिसे बाद में विसर्जित कर दिया गया।

 

RTI News